दो बातों की गिनती करना छोड़ दिजिये…. खुद का दु:ख…

दो बातों की गिनती करना छोड़ दिजिये….
खुद का दु:ख…
और दुसरे का सुख….
ज़िन्दगी आसान हो जाएगी…

0

Article Categories:
Karma
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *