छू ले आसमान ज़मीन की तलाश न कर तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त…

छू ले आसमान ज़मीन की तलाश न कर
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त
मुस्कुराना सीख ले ,वजह की तलाश न कर….

0

Article Categories:
VISHWAS
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *