हमे ही कुछ कदम उठाने होंगे. कुछ बदले से तेवर दिखाने होंगे…

हमे ही कुछ कदम उठाने होंगे.
कुछ बदले से तेवर दिखाने होंगे,
ऐ मेरे दोस्तों ज़रा नींद से जागो!
कुछ कर्तव्य हमे भी निभाने होंगे…………..
वर्ना………. 
ज़मीन बेच देंगे गगन बेच देंगे,
नदी नाले पर्वत चमन बेच देंगे,
अरे नौज़वानों अभी तुम न संभले,
तो ये भ्रष्ट नेता वतन बेच देंगे…!

0

Article Categories:
VISHWAS
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *